वनस्पति और जीव

वनस्पति

विभिन्न प्रजाति के फूल

विभिन्न प्रजाति के फूल

यह क्षेत्र पौधों की 4000 प्रजातियों के साथ बेहद समृद्ध है, हिमालय की एक श्रृंखला में होने के कारण इसकी प्राकृतिक वनस्पति में उल्लेखनीय विविधता है।इसकी ‘जलवायु विविधताओं के अलावा विशेष रूप से तापमान, वर्षा,पहाड़ो की उचाई ,घाटियों की प्रकृति वनस्पति की विविधता एवं अनुशासित विकास को निर्धारित करती है|इस क्षेत्र के वनस्पतियों को ट्रोपिहाल, हिमालयी उप-उष्णकटिबंधीय और उप अल्पाइन और अल्पाइन वनस्पति में वर्गीकृत किया जा सकता है।अल्पाइन और उप अल्पाइन जोन औषधीय पौधों की सबसे बड़ी संख्या के सबसे प्राकृतिक आवास के रूप में माना जाता है।विभिन्न मापदंडों को ध्यान में रखते हुए, इस क्षेत्र की वनस्पति, मोटे तौर पर चार भागों में विभाजित किया जा सकता है

कुमाऊँ की पहाड़ी क्षेत्रों में चीड़ का वन

कुमाऊँ की पहाड़ी क्षेत्रों में चीड़ का वन

उप-उष्णकटिबंधीय वन

इस तरह के जंगल का क्षेत्र 300 मीटर और 1500 मीटर की ऊंचाई के बीच स्थित है और इसमें निम्नलिखित वन समुदाय
शामिल हैं।

    • साल (शोरो रोबस्टा) समुदाय :- यह पौधों की एक पर्णपाती प्रकार का समूह है जो 300 मीटर से 1000 मीटर तक ऊंचाई में पाया जाता  है।इस समुदाय की पेड़ प्रजातियों में सेमेकरपस एनाकार्डियम, हल्दु (एडीना कॉर्डिफ़ोलिया), बॉह्निआ वाहिली, मधुका लांगफोलिया, कैसिया फास्टुला आदि हैं।
    • चीड़ / पाइन (पिनस रॉक्सबरी) समुदाय :-यह सदाबहार पौधों का समुदाय मुख्य रूप से शुष्क पहाड़ी ढलानों में 1200 मीटर से 800 मीटर के बीच पाए जाते हैं। वनों की जमीन अक्सर स्पष्ट होती है|हालांकि, पायरस पशिया, डाल्बर्गिया सेरीशिया, कैसाना एल्पाटिका, साइजीगियम कमिनी अन्य प्रजातिएं पाइन के साथ विकसित होती हैं।
    • विजयसार(एंजेलहार्डिया स्पिसिकेट) समुदाय:- यह एक पर्णपाती प्रकार का पौधा समुदाय है जो कि छायादार और
      गीली जगह में 800 मीटर से 1500 मीटर ऊंचाई पाया जाता है |पेपर सपियम ऑनसिग्ने,दल्बर्गिया सीसोओ,
      साइज़ीगियम कमिनी इसकी कुछ अन्य प्रजातियाँ हैं।
    • रामल (मकारंगा पस्तुलता) समुदाय:- यह एक पर्णपाती पौधों का समुदाय है जो मुख्य रूप से ढलानों या नदी के क्षेत्र में पाया जाता है।इस समुदाय में मुख्य रूप से मल्लोटस फिलिपिनेंसिस, टूना सेरता आदि पौधों हैं।
    • फलीयाल ओक (कुरेकस ग्लोका) समुदाय:-यह सदाबहार समुदाय 1500 मीटर ऊंचाई तक छायादार और नम जगह में पाया जाता है।पेरुस पशिया, एम्ब्लका ऑफिफ़ाइनलिस और बुश कॉलिकारपा अर्बोरिया जैसे पेड़, रुबस एलिप्टिकस इस समुदाय के अन्य सहयोगी हैं।
    • चेयर पाइन और बनी ओक समुदाय:-यह समुदाय मुख्य रूप से ऊंचाई 1500 मीटर से 1800 मीटर के बीच पाया जाता है|मिरिका एस्कलेंटा, रोडोडेन्ड्रोन आर्बोरियम, पीयरस पशिया आदि इस समुदाय की अन्य पेड़ प्रजातियां हैं।

li>
रियांज ओक(क्वार्सरस लानिगिनोसा)समुदाय:उपरोक्त दो समुदायों की भांति ही यह समुदाय भी सदाबहार है|और 2000 से 2500 मीटर ऊंचाई पर पाया जाता है।

  • तिलोंज ओक (क्यू फ्लोरबुन्डा) समुदाय:-यह समुदाय 2200 मीटर और 2700 मीटर ऊंचाई के बीच होता है।इस जंगल की सह-प्रभावशाली प्रजातियां आर। अरबोरेम, ल्योनिया ओवलिफोलिया, लिटिया उंबोरा आदि हैं।

 

उप-शीतोष्ण वन

इस क्षेत्र के वन समुदाय को आम तौर पर 1800 मीटर से 2800 मीटर ऊँचाई मिल जाती है। इस क्षेत्र से संबंधित वनस्पति
समुदाय हैं

  • देवदार (सिडरस देवदार) समुदाय:-पौधों के ये  सदाबहार समुदाय 1800 मीटर से 2200 मीटर ऊंचाई के बीच पाए जाते हैं।इस समुदाय से संबंधित झाड़ियां रूबस एल्डिटीस और बरबेरीस एसिटिका हैं
  • उतीस  (एलनस नेपेलसिस):-आमतौर पर यह पर्णपाती पौधों का समुदाय 1400 से 2200 मीटर ऊंचाई के बीच  पाया जाता  है।इस समुदाय की कुछ महत्वपूर्ण प्रजातियां रुबस एल्डिटीस और बीटुला अल्नोइड हैं।
  • हॉर्स चेस्टनट (एस्कुल्स इंडिका) समुदाय:-यह पर्णपाती समुदाय 2000 और 2500 मीटर ऊंचाई के बीच होता है|इस समुदाय से संबंधित पेड़ों की प्रजातियां बीटाला अल्नोइड, जुगलन्स रेगिआ और लिट्सी उम्बोसा हैं
  • कल (पिनस वालेचिना) समुदाय:-यह हमेशा  हरा जंगल 2100 मीटर से 2800 मीटर ऊंचाई तक पाया जाता  है।
  •  बांज ओक (क्वैर्सस ल्यूकोट्रियोचोफोर) समुदाय:-यह भी 1800 मीटर और 2200 मीटर ऊंचाई के बीच एक सदाबहार पौधे का समुदाय है।
  • रियांज ओक(क्वार्सरस लानिगिनोसा)समुदाय:उपरोक्त दो समुदायों की भांति ही यह समुदाय भी सदाबहार है|और 2000 से 2500 मीटर ऊंचाई पर पाया जाता है।
  • तिलोंज ओक (क्यू फ्लोरबुन्डा) समुदाय:-यह समुदाय 2200 मीटर और 2700 मीटर ऊंचाई के बीच होता है।इस जंगल की सह-प्रभावशाली प्रजातियां आर। अरबोरेम, ल्योनिया ओवलिफोलिया, लिटिया उंबोरा आदि हैं।

उप अल्पाइन वन समुदाय

यह पौधों का समुदाय 2800 से 3800 मीटर ऊंचाई पर पाया जाता है। भोज पेटा, बेटला उपयोग खारसु ओक, क्यूएस्मेकरपीफोलिया   और सिल्वर फ़िर (एबिस पंड्रो), इस समुदाय की मुख्य प्रजातियां हैं।

उप-शीतोष्ण वन

इस क्षेत्र का सबसे आंतरिक समुदाय 3800 और 5000 मीटर ऊंचाई के बीच है। कम झाड़ियों और घास वाले घास के मैदान इस समुदाय की सामान्य श्रेणियां हैं|ऊंचाई में वृद्धि के साथ पौधे का आकार अधिक छोटा और कुशन जैसा होता है।

पशुवर्ग

अल्मोड़ा और बाहरी इलाके के उप-अल्पाइन जोन तेंदुए, लंगुर, हिमालयी काले भालू, ककार, गैल आदि के लिए एक प्राकृतिक अभयारण्य हैं।जबकि उच्च ऊंचाई वाले क्षेत्र में कस्तूरी हिरण,हिम तेंदुए,नीली भेड़,थार आदि पाए जाते हैं|पूरे क्षेत्र में पक्षियों की एक उल्लेखनीय विविधता है|जिसमें शानदार रंगों एवं डिजाइन पक्षी जैसे मोर,भूरा क्वेल, काला तीतर, सीटी सीने, चाकोर, मोनल तेंदुआ चीर तीतर, कोक्लास तीतर आदि शामिल हैं|निम्नलिखित तालिका से जीव और उनके पसंदीदा वनस्पतियों के बीच के संबंध स्पष्ट होंगे:-

वन प्रकार वन्य जीव / पक्षी
 ऊपोष्णकटिबंधीय टाइगर, चीटल (एक्सिस अक्ष) तेंदुए (पेंथेरा पर्दस), फॉक्स (वल्प्स वल्प्स मोंटेनस), बोअर (सस स्क्रोफा)
उष्णकटिबंधीय वर्षावन गोरल (नेमोहाएडस गैरल), कालीज तीर्थ (लोफरा लेकुमेलाना), पीओरा पेट्रिज (पहाड़ी पेट्रिज, चिर तीतर)
मिश्रित केन वन हिमालय थार, मोनल, कोक्लास
खुसू वन कस्तूरी हिरण (मोस्चस मस्कीफिरस), हिमालय थार, ब्लैक बियर
उप अल्पाइन नीली भेड़ / ‘भरल’ (छद्म नहूर) मोनाल
अल्पाइन हिम तेंदुए (पेंथेरा उन्सा), मोनल, ब्लैक बियर, मार्मोट, भरल, हिम कॉक (टेट्राओग्ललस हिलायनिसिस), हिमपात पट्रिज (लारवा लर्वा) इत्यादि।
तेदुआ

तेदुआ